Punjabi News

एक बेरोजगार व्यक्ति ने बच्चों सहित ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली An unemployed person jumped to the front of the train including children, suicide

Written by Admin

एक बेरोजगार व्यक्ति ने बच्चों सहित ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली

 

बटाला आत्महत्या: बटाला: आज की दुनिया में आत्महत्या के कई मामले हैं। लोग यह कदम ज्यादातर मानसिक तनाव या आर्थिक मजबूरियों के कारण उठाते हैं। ऐसा ही मामला बटाला के कोटला शाही गांव में देखने को मिला है, जहां बेरोजगारी से परेशान 35 साल का जसवंत सिंह दो बच्चों के साथ दो छोटे बच्चों को ले गया और आत्महत्या करने के लिए ट्रेन के सामने कूद गया। इस घटना में पिता और उनके तीन साल के बेटे फतेह सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी सात वर्षीय बेटी जाति प्रीत कौर गंभीर रूप से घायल हो गई।
इस घटना के बाद, पुलिस ने मृतक की मां द्वारा दिए गए बयानों के आधार पर मामला दर्ज किया है। घटना बटाला के कोटला शाही गाँव की है, जहाँ अमृतसर के रहने वाले सुल्तानविंड निवासी जसवंत सिंह दो बच्चों, सात वर्षीय जशनप्रीत कौर (बेटी) और तीन साल के बच्चे फतेह सिंह को लेकर अपनी बहन के साथ रहने आए थे।
जानकारी में पता चला है कि मृतक जसवंत सिंह एक कार चालक था और वह सात साल पहले गंभीर रूप से बीमार होने के कारण बेरोजगार था। इस मामले में यह पाया गया है कि जसवंत सिंह ने कुछ समय पहले अपने पैर का ऑपरेशन किया था, लेकिन उनके पैर को ठीक नहीं किया जा सका, लेकिन उनके पैर को ठीक नहीं किया जा सका।
नतीजतन, वह बेरोजगार था, और मृतक मानसिक दबाव में था। रविवार को, जसवंत सिंह अपने दो बच्चों के साथ कूद गए और एक चलती ट्रेन के सामने कूद गए। इस घटना में जसवंत सिंह और उनके तीन साल के बेटे फतेह सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी सात वर्षीय बेटी जशनप्रीत गंभीर रूप से घायल हो गई।
उन्हें इलाज के लिए अमृतसर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
इस घटना के बारे में बताते हुए, रेलवे पुलिस बटाला के प्रभारी पवन कुमार ने कहा कि मृतक के परिवार के सदस्यों के अनुसार, पीड़ित पैर में चोट लग गई थी। जिसके कारण वह लंबे समय से बेरोजगार था और इस तरह के मामले के कारण, जसवंत सिंह ने अपने बच्चों के साथ ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने कहा कि मृतक की मां दलबीर कौर द्वारा दिए गए बयानों के आधार पर मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

 

An unemployed person jumped to the front of the train including children, suicide

 

Batala Suicide: Batala: There are many cases of suicides in today’s world. People take this step mostly due to mental tension or economic compulsions. The same case has been found in Kotla Shahi village of Batala where, 35 years old Jaswant Singh, who was upset with unemployment, took two small children with two children and jumped in front of the train to commit suicide. In this incident, father and his three-year-old son Fateh Singh died on the spot, while his seven-year-old daughter, Jati Prit Kaur, was seriously wounded.
After this incident, the police has registered a case based on the statements made by the deceased’s mother. The incident happened in Kotla Shahi village of Batala, where residents of Amritsar Sultanwind resident Jaswant Singh had come to live with his sister after taking two children, seven year old Jashanpreet Kaur (daughter) and three-year-old son Fateh Singh.
It has been found in the information that the deceased Jaswant Singh was a car driver and he was unemployed due to his serious seven-legged years earlier. In this case it has been found that Jaswant Singh had done his leg operation some time ago, but his leg could not be corrected, but his leg could not be cured.
As a result, he was unemployed, and the deceased was under mental pressure. On Sunday, Jaswant Singh jumped his two children and jumped in front of a moving train. In this incident, Jaswant Singh and his three-year-old son Fateh Singh died on the spot, while his seven-year-old daughter, Jashanpreet, was critically injured.
He has been admitted to the Amritsar hospital for treatment.
Stating this about the incident, Pawan Kumar, Incharge of the Railway Police Batala said that according to the family members of the deceased, the victim was injured in the leg. Due to which he had been unemployed for a long time and due to such a matter, Jaswant Singh jumped in front of his train with his children and committed suicide. He said that on the basis of statements given by the deceased’s mother, Dalbir Kaur, the case has already started and proceedings have been started.

About the author

Admin

Leave a Comment